नवीनतम करंट अफेयर्स 29 दिसम्बर 2015

0
51

सत्या नडेला भारत आए, स्टार्ट अप बिजनेस की सलाह दी विद्यार्थियों को

सत्या नडेला भारत आए, स्टार्ट

  • सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला दूसरी बार भारत आए हैं।
  • आज हैदराबाद में सत्या नडेला ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबु नायडू से मुलाकात की।
  • इस दौरान नायडु ने नडेला को आंध्र प्रदेश में माइक्रोसॉफ्ट का एक और ऑफिस खोलने का प्रस्ताव दिया है । हैदराबाद में पहले से ही माइक्रोसॉफ्ट का एक बड़ा कैंपस भी है।
  • इसके बाद नडेला ने हैदराबाद के आईटी हब ट्यूबाइड में छात्रों और बिजनेस लीडर्स से मुलाकात भी की। इस दौरान उन्होंने स्टार्ट-अप बिजनेस की सलाह छात्रों को दी
  • करीब दो सप्ताह पहले गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई भी भारत आए थे और यहां उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से बात की थी।
  • सत्या नडेला ने 4 फरवरी 2014 को माइक्रोसॉफ्ट में सीईओ का पद संभाला था। वे इस कंपनी में इतने बड़े पद पर पहुंचने वाले पहले भारतीय हैं।

अब विश्वविद्यालयो में सिर्फ ऑनलाइन आवेदन ही होगे स्वीकार्य

अब विश्वविद्यालयो में सिर्फ ऑनलाइन आवेदन ही होगे स्वीकार्य

  • दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) सहित देश के सभी विश्वविद्यालयों में वर्ष 2016-17 से स्नातक व स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में दाखिला सिर्फ ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से ही होगा।
  • विश्वविद्यालय अनुदान आयेाग (यूजीसी) ने सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए है कि वे दाखिला प्रक्रिया में पारदर्शिता बरते साथ ही अभिभावकों व आवेदकों की सहूलियत के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को लागू करे।
  • इस आदेश के बाद डीयू ने कहा कि वह इस दिशा में अग्रसर है और नए सत्र से डीयू में दाखिला प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन ही होगी।
  • यूजीसी अध्यक्ष प्रो. वेद प्रकाश ने सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को पत्र लिखकर कहा है कि वे अपने यहां नए सत्र से ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया लागू करें।
  • इससे आवेदन प्रक्रिया से छात्रों को बहुत ही सहूलियत हो जाएगी ।

   एक जनवरी से यूपी में ऑनलाइन लगेगी स्टूडेंट्स की हाजिरी

एक जनवरी से यूपी में ऑनलाइन लगेगी स्टूडेंट्स की हाजिरी

  • एक जनवरी से उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग के सभी स्कूलों में छात्र- छात्राओं की हाजिरी ऑनलाइन भरी जाएगी।
  • इस कार्य को संपन्न करने के लिए बेसिक शिक्षा परिषद ने ऑनलाइन सॉफ्टवेयर तैयार किया है।
  • इस योजना के अंर्तगत शिक्षकों को अब सुबह विद्यार्थियों की उपस्थिति के बाद अपने मोबाइल से बेसिक शिक्षा परिषद को मैसेज भेजना होगा ,ऐसा करने से विभाग की सभी योजनाओं में होने वाले धन के दुरुपयोग को रोका जा सकेगा।
  • इस योजना के तहत परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या और उन्हें मिलने वाली सरकारी सुविधाओं में पारदर्शिता रहेगी।
  • इसके अलावा परिषदीय विद्यालयों में पढ़ाई की गुणवत्ता भी सुधरेगी।
  • प्रधानाध्यापक स्कूल खुलने के एक घंटे के अंदर अपने रजिस्टर्ड नंबर से ही कक्षा के सभी छात्र-छात्राओं की हाजिरी भेजेंगे।
  • ऐसा न करने पर शिक्षको पर करवाई की जाएगी।
  • हेराफेरी पकड़े जाने पर उसे सीधे सीधे गबन का मामला ही माना जाएगा।

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने खत्म की अंतरिक्ष एजेंसी

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने खत्म की अंतरिक्ष एजेंसी

  • व्लादिमीर पुतिन ने संघीय अंतरिक्ष एजेंसी को समाप्त करने के एक आदेश पर हस्ताक्षर किए।
  • इसकी जानकारी क्रेमलिन की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई।
  • एजेंसी का काम स्टेट कॉरपोरेशन ही करेगा,जिसकी स्थापना जुलाई मेंहुई थी
  • रॉस्कॉस्मोस स्टेट कॉरपोरेशन युनाइटेड रॉकेट तथा स्पेस कॉरपोरेशन का काम भी देखेगा और इस प्रकार यह शोध, विकास व बाह्य अंतरिक्ष का इस्तेमाल करने वाली अकेली एजेंसी होगी।
  • नव सृजित कॉरपोरेशन अंतरिक्ष संचालन का प्रबंधन करेगा और नियामक नियंत्रण का क्रियान्वयन करेगा।
  • इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।
  • नया संगठन संबंधित सरकारी व व्यापार संरचना को मजबूत करने में मदद करेगा, संचालन को आसान करेगा, कार्यविधि की निगरानी करेगा तथा उद्योग में मौजूदा समस्याओं का समाधान करेगा।

अब OLA ऐप के द्वारा आप उठा सकेंगे पूल राइड का लाभ

अब OLA ऐप के द्वारा आप उठा सकेंगे पूल राइड का लाभ

  • सम-विषम वाहन फार्मूला के मध्य नज़र परिवहन संबंधी सेवा मुहैया कराने वाली मोबाइल ऐप ओला ने सोमवार को ‘कारपूल’ फीचर लॉन्च करने की घोषणा की।
  • दिल्ली के नागरिक ओला की मोबाइल ऐप के द्वारा अपनी निजी कारों का इस्तेमाल करते हुए पूल राइड्स का लाभ उठा सकेंगे।
  • ओला ऐप पर कारपूल फीचर मेजबान एवं उनके साथी यात्रियों के लिए पूरी तरह से नि:शुल्क होगा।
  • इसे खास तौर पर दिल्ली शहर में यातायात एवं प्रदूषण की समस्याओं से निजात पाने के लिए लागू किया जा रहा है।
  • ओला ऐप पर मौजूद फ्रेंड लिस्ट फीचर के द्वारा उपयोगकर्ता अपने मोबाइल फोन नम्बर के साथ दोस्तों को ऐड करते हुए एक कस्टम लिस्ट बना सकते हैं। इसके द्वारा कारपूल के उपयेागकर्ता अपनी गोपनीयता बनाए रखते हुए जान-पहचान वाले दोस्तों के साथ राइड शेयर कर सकते हैं।

इंफोसिस का सबसे बड़ा परिसर खुलेगा हैदराबाद में

फोसिस का सबसे बड़ा परिस

  • अगले साल फरवरी में इंफोसिस अपना सबसे बड़ा परिसर हैदराबाद में शुरू करेगी।
  • शहर के बाहरी इलाके में स्थित पोचारम में 25 हजार कर्मियों की क्षमता वाला परिसर तैयार हो रहा है। पहले चरण में 12 हजार कर्मियों की क्षमता वाला परिसर का उद्घाटन होगा।
  • सूचना प्रौद्योगिकी की प्रमुख कंपनी इंफोसिस टेक्नोलॉजी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विशाल सिक्का ने तेलंगाना के सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री के.टी. रामाराव से सोमवार को मुलाकात की और उन्हें उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया।
  • इस बैठक के दौरान टी-हब में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नाडेला भी थे।
  • इस बारे में मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव इंफोसिस परिसर का उद्घाटन करेंगे।
  • वर्तमान में गाचीबौली के आईटी कॉरिडोर में इंफोसिस का परिसर है, जिसकी क्षमता 10 हजार कर्मचारियों के बैठने की व्यवस्था है।
  • कंपनी ने नए परिसर के निर्माण कार्य के शुरुआत की घोषणा साल 2008 में की थी।
  • घोषणा में कहा गया था कि कंपनी का नया परिसर 1,250 करोड़ रुपये की लागत से 447 एकड़ से अधिक इलाके में फैला होगा। 10 वर्षों के दौरान तीन चरणों में इसके निर्माण की घोषणा की गई थी। पहले चरण के निर्माण में प्रारंभिक निवेश अनुमानत: 600 करोड़ रुपये हुआ है।

ई-बोर्डिंग सेवा देने वाला पहला हवाईअड्डा बना RGIA

आर जीआईअ

  • यात्रियों को घरेलू यात्रा के लिए अब अलग से बोर्डिंग पास लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • इस प्रकार की सुविधा देने वाला आरजीआईए देश का पहला हवाईअड्डा बन गया है।
  • इस सुविधा के अंर्तगत यात्री स्मार्टफोन पर अपना बोर्डिंग पास प्राप्त कर सकते हैं।
  • यात्री हवाईअड्डे में ई-बोर्डिंग कार्ड और आधार संख्या के जरिए प्रवेश पा सकते हैं। आधार कार्ड नहीं होने की स्थिति में यात्री अपने मतदाता पहचान पत्र के जरिए भी हवाईअड्डे में प्रवेश कर सकते हैं।
  • यात्रा करने वाले यात्रियों के विवरण की जांच मुख्य द्वार पर संबद्ध विमान के डिपार्चर कंट्रोल सिस्टम द्वारा ऑनलाइन की जाएगी।
  • स्मार्टफोन नहीं होने की स्थिति में यात्री कॉमन यूज सेल्फ सर्विस (सीयूएसएस) मशीन से अपना ई-बोर्डिंग कार्ड ले सकते हैं या परंपरागत तरीके से काउंटर से भी वोर्डिंग कार्ड ले सकते हैं।
  • सुरक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से हवाईअड्डे पर हाईडेफिनेशन सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।