आईबीपीएस क्लर्क मेन परीक्षा 2015 में सफलता प्राप्त करने के लिए टिप्स और रणनीतियां

2
830

आईबीपीएस क्लर्क मेन परीक्षा 2015 में सफलता प्राप्त करने के लिए टिप्स और रणनीतियां-

आधिकारिक सूचना के अनुसार, IBPS क्लर्क प्रतिभागी परीक्षा को बैंकों/वित्तीय संस्थानों में लिपिकीय संवर्ग पदों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए आयोजित किया जाता है । IBPS क्लर्क परीक्षा दो चरणों में होती है- प्रारंभिक या मुख्य,जो आवदेक प्रारंभिक परीक्षा को पास करते। वह ही मुख्य परीक्षा देने के लिए अगले चरण में जाते है। प्रतिस्पर्धा से भरी सीटों की एक मुट्ठी में सफलता पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी । परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए ये ज़रूरी है कि आपको परीक्षा के बारे में पूर्ण ज्ञान हो। आज हम आपको परीक्षा में सफलता प्राप्त करने की टिप्स देगे जिससे आप परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते है।

परीक्षा पैटर्न व सिलेबस

परीक्षा के कुल अंक – 200

प्रश्नों की कुल संख्या – 200

सही उत्तर देने के लिए अंक -1

नकारात्मक अंक – 0.25

परीक्षा का कुल समय -2 घंटे

प्रश्न पत्र – वस्तुनिष्ठ

परीक्षा पैटर्न

खंडअंकप्रश्न
अंग्रेजी अभिक्षमता खंड4040
संख्यात्मक अभिक्षमता खंड4040
तर्क अभिक्षमता खंड4040
सामान्य ज्ञान खंड4040
कंप्यूटर ज्ञान खंड4040

 

अंग्रेजी खंड – कुल प्रश्नों की संख्या – 40

विषयप्रश्नों की संख्या
रीडिंग काम्प्रिहेन्शन (Reading Comprehension10
क्लोज़ टेस्ट10
पुनर्व्यवस्थापन (Rearrangement)5
एरर स्पाटिंग ( Error Spotting)5
फ्रेज़ ( Phrases)
5
रिक्त स्थान पूर्ति( fill in the blanks)5

 

 

संख्यात्मक अभिक्षमता खंड -कुल प्रश्न – 40

विषयप्रश्नों की संख्या
अंकगणित (लाभ हानि, समय और कार्य, आदि प्रतिशत, आयु )20
श्रृंखला5
डेटा व्याख्या5
सरलीकरण10

 

तर्क अभिक्षमता खंड – कुल प्रश्न – 40

विषयप्रश्नों की संख्या
सिलजिज़म(Syllogisms)5
बैठक व्यवस्था10
डेटा पर्याप्तता(

Data Sufficiency)
5
कोडिंग – डीकोडिंग5
पज़ल्स सवाल (Puzzles)
5
मिसलैनीअस (Miscellaneous )5

 

सामान्य ज्ञान अभिक्षमता खंड – कुल प्रश्न – 40

विषयप्रश्नों की संख्या
सामान्य ज्ञान5-10
बैंकिंग ज्ञान10-15
करंट अफेयर्स15

 

कंप्यूटर ज्ञान अभिक्षमता खंड – कुल प्रश्न – 40

इस भाग में विंडोज,माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ( वर्ड, एक्सेल) ,नेटवर्किंग,बेसिक हार्डवेयर,सॉफ्टवेर,डीबीएमएस आदि विषय से सवाल पूछे जाते है।

आईबीपीएस क्लर्क मुख्य परीक्षा 2015 में सफलता प्राप्त करने के लिए टिप्स और रणनीतियां-

अंग्रेजी अभिक्षमता खंड – अंग्रेजी भाषा का ये खंड कुछ आवेदको के लिए आसान और कुछ के लिए अत्यंत मुश्किल होता है।  इस खंड के लिए  आपकी अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होनी जरूरी है। इसमें अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को शब्द-कोष पर ध्यान देना चाहिए ।अभ्यर्थियों को अपनी व्याकरणिक संकल्पनाएँ विकसित करने का प्रयास करना चाहिए। इस खंड में कट ऑफ लाने के लिए आवेदकों को गद्यांश प्रश्न, वाक्यों में आम गलतियाँ, रिक्त स्थान पूर्ति, क्लोज टेस्ट, विपरीतार्थक शब्द, समानार्थक शब्द आदि विषयो को अवश्य करना चाहिए।

संख्यात्मक अभिक्षमता खंड – संख्यात्मक योग्यता के प्रश्न हल करने के लिए अभ्यर्थियों को आधारभूत गणनाओं और सन्निकटीकरण (एप्रोक्सिमेशन) की संकल्पनाओं का ज्ञान होना चाहिए। इसके अतिरिक्त, संख्यात्मक योग्यता वाले खंड के लिए गति मुख्य भूमिका निभाती हैं। डाटा इंटरप्रिटेशन, श्रृंखला,  प्रतिशत औसत ,साधारण ब्याज / चक्रवृद्धि ब्याज,लाभ और हानि,अनुपात और अनुपात,समय और काम,समय की गति और दूरी आदि विषय इस भाग में आते है। इस भाग में अच्छे अंक पाने के लिए निम्न बातों का ध्यान रखे-

  • अधिक से अधिक प्रश्नों का अभ्यास करे ,अभ्यास करते समय कैलकुलेटर का प्रयोग न करे।
  • सबसे पहले डेटा इंटरप्रिटेशन वाले सवालों को करे क्योंकि आप उनमे 100% अंक प्राप्त कर सकते है।
  • इसके बाद अंकगणित और श्रृंखला के सवालों को करे।
  • आसान सवालो को पहले करे।
  • उसके बाद डेटा पर्याप्तता वाले सवाल करे।

ध्यान रखे कि ज्यादा सवालों को हल करना आपका लक्ष्य नही है बल्कि सही उत्तर देना।

तार्किक अभिक्षमता खंड-तर्क-क्षमता वाले खंड की तैयारी के लिए मानसिक सजगता और तार्किक कौशल होना ज़रूरी है। इस खंड में सफलता हासिल करने के लिए अभ्यर्थी को मोक टेस्ट और पिछले वर्षों के परीक्षा-प्रश्नपत्रों से अभ्यास करना चाहिए। इस खंड में शाब्दिक और गैर-शाब्दिक रीजनिंग के टॉपिक्स से प्रश्न आते हैं, जिनमें एनालॉजी, इनपुट-आउटपुट, वर्गीकरण, निगमन (सिलोजिज्म), अनुमान (इन्फेरेंसेस) बैठने की व्यवस्था ,रक्तसंबंध,कोडिंग डिकोडिंग  ,विवरण तथा धारणा ,डेटा पर्याप्तता ,असमानता, इनपुट आउटपुट ,विषम शब्द ज्ञात करना आदि विषय आते हैं।

  • बैठने की व्यवस्था वाले सवालो पर ध्यान दें। अधिक से अधिक समय इस विषय कों दे  क्योंकि इन सवालों में आप अधिकतम अंक प्राप्त कर सकते है।
  • इसके बाद रक्त संबधित सवालों कों करे ध्यान रखे कि पहले एकल रक्त संबंध वाले सवालों को करे।
  • कोडिंग और डिकोडिंग सवालों में पहले उन सवालों कों करे जिनके उत्तर आप 10 सेकंड में ज्ञात कर सकते है।
  • तर्क विभाग में सफलता प्राप्त करने की सिर्फ यह कुंजी है कि आप उन सवालों की पहचान करे जिनको आप आसानी से और कम समय में कर सके।

सामान्य ज्ञान अभिक्षमता खंड – परीक्षा प्रश्नपत्र का यह एक अंकदायी (स्कोरिंग) खंड है। इस खंड की तैयारी के लिए अभ्यर्थियों को बैंकिंग उद्योग और अर्थव्यवस्था पर नजर रखनी चाहिए। इसके लिए बैंकिंग-जागरूकता के साथ सामान्य जागरूकता अपेक्षित है। सामान्य ज्ञान के खंड में भारत की बैंकिंग-प्रणाली, मुद्रा, बजट-निर्माण, वित्तीय आयोजना, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठन आदि विषय आते हैं।

  • अपने ज्ञान में वृद्धि करने के लिए प्रतियोगिता दर्पण, क्रॉनिकल या किसी अन्य प्रतियोगी पत्रिका को पढ़ें।
  • द हिन्दू, नवभारत टाइम्स या मिंट अखबार को पढ़े।
  • सामान्य ज्ञान प्रतियोगता दर्पण मैगजीन पढ़े।
  • पत्रिका के 5-6 सबसे हाल के मुद्दों पर ध्यान दें।
  • पत्रिका के भीतर निम्न विषयों पर ध्यान दे-
  •  अर्थव्यवस्था
  • इंटरनेशनल अफेयर्स
  •  राजनीति
  • बैंकिंग और भारतीय रिजर्व बैंक विषय
  • खेल

कंप्यूटर ज्ञान खंड – कंप्यूटर-ज्ञान खंड में आप ज्यादा से ज्यादा अंक प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए कंप्यूटर का आधारभूत ज्ञान, नेटवर्किंग, इंटरनेट और कम्यूनिकेशन के साथ इस क्षेत्र में होने वाले नए अनुसंधानों की जानकारी भी आपको होनी चाहिए। इस खंड के अंतर्गत कंप्यूटर-कंपोनेंट्स, लैंग्वेजेज, ऑपरेशंस, नेटवर्किंग आदि विषय आते हैं।

टिप्स- परीक्षा की तैयारी करते समय

परीक्षा पैटर्न और सिलेबस के अनुसार तैयारी करे –  आप परीक्षा पैटर्न और सिलेबस के अनुसार ही परीक्षा की तैयारी करे। परीक्षा में सफलता पाने की कुंजी यही है आप परीक्षा के स्वरूप को समझे। साथ ही आपको ये समझना होगा कि भर्ती विभाग उस पद के लिए किन मानको को देखना चाहते हैं।

समय सारणी व स्टडी प्लान बना लेआप सबसे पहले यह निर्धारित कर ले कि आपको कितना समय किस भाग को देना। परीक्षा में बेहतर परिणाम पाने के लिए समय सारणी और स्टडी प्लान पहले से ही बना ले।

पढ़ते समय ब्रेक अवश्य ले पढ़ाई करते समय आपका दिमाग थक जाता है | जब भी आप थकान महसूस करें तो एक अल्प विश्राम (Short Break) ज़रूर लें | आमतौर पर पढ़ाई करते समय 30 से 40 मिनट के बाद आपको थोड़ा आराम करना चाहिए |

प्रश्नों को हल करने में लगने वाला समय रिकॉर्ड करे जब भी आप प्रश्नों को हल करे तो उन्हें हल करने में जो समय लग रहा उसे रिकॉर्ड करे। इससे आपको ज्ञात हो जाएगा कि आपको कौन सा भाग परीक्षा में पहले करना हैं और साथ ही आप सवालों को हल करने की गति भी बढ़ा सकते है।

परीक्षा की तैयारी करते समय सभी प्रकार के उपकरणों से दूर रहे परीक्षा की तैयारी करते समय मोबाइल,लैपटॉप,आई पॉट आदि सभी अपने पास न रखे।क्योंकि उससे आप अपना ध्यान पूरी तरह से केन्द्रित नही कर पाते हैं।

टेक्नोलोजी का प्रयोग परीक्षा की तैयारी के लिए करेआप परीक्षा की तैयारी के लिए टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर सकते है। जैसे आप विषय पर आधारित विडियो देख सकते है।अगर आप पढाई करते समय सिर्फ पढने के अलावा अपनी सभी इंद्रियों का प्रयोग करते है तो आपको वह विषय ज्यादा दिन और अच्छे से समझ आएगा।

अपने ऊर्जा स्तर को जानें – दिन में अलग अलग समय पर हर व्यक्ति की शारीरिक और मानसिक उर्ज़ा का स्तर अलग हो सकता है | उदाहरण के तौर पर कुछ लोग सुबह के समय ज्यादा ताजा और ऊर्जावान महसूस करते हैं तो कुछ लोग शाम को या फिर रात के समय | कुछ लोगों को सुबह उठ कर पढ़ा हुआ ज्यादा याद रहता है तो कुछ को देर रात को पढ़ा हुआ | तो जिस समय आप अपने को ज्यादा ताज़ा और उर्ज़ावान महसूस करते हैं, वह समय आप अपनी पढ़ाई के लिए रखें |

तनाव मुक्त रहकर परीक्षा की तैयारी करे परीक्षा की तैयारी करते समय हमेशा तनाव मुक्त रहे ताकि आप अपनी मंजिल बिना परेशान हुए पा सके।

टिप्स – परीक्षा देते समय

परीक्षा भवन में दिए जाने वाले सभी दिशा निर्देशो का पालन करेसभी आवेदको को परीक्षा भवन में दिए जाने वाले दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए।

गति व सटीकता पर ध्यान देपरीक्षा देते समय गति और सटीकता पर ध्यान दे। परीक्षा में आप इस बात पर ध्यान दे कि आपको सवालो को जल्दी हल नही करना है बल्कि सही  उत्तर प्राप्त करना है। इसलिये सवालों कों हल करते समय इस बात पर ध्यान दे कि आपके उत्तर सही हो।

अपने मजबूत सवालो को पहले करे – जिन सवालों को हल करने में आप अच्छे हैं उन्हें पहले करे। ताकि आप ज्यादा समय आपके कमज़ोर भागों को दे सके।

पहले 30 मिनट जल्दी हल होने वाले सवालो को दे परीक्षा को दो भागो में विभाजित कर ले। जिन सवालों को जल्दी किया जा सकता हैं उन्हें पहले 30 मिनट में कर ले। ऐसा करने से आपके पास ज्यादा समय कमजोर विषयो के लिए बोनस के रूप में बचेगा।

प्रश्नपत्र को ध्यान पूर्वक पढ़ें -जब भी आप कोई परीक्षा देते हैं तो उत्तर लिखना शुरू करने से पहले, प्रश्नपत्र को कम से कम दो बार ध्यानपूर्वक पढ़ लें | यह सुनिश्चित कर लें कि प्रश्न क्या है और उसका सही उत्तर क्या होगा | कई बार घबराहट में हम प्रश्न समझ ही नहीं पाते और गलत उत्तर लिख देते हैं |

प्रश्न को हल एक ही बार में करे परीक्षा देते समय ये याद रखे कि सवाल को एक ही बार में हल करे क्योंकि बार बार हल करने की कोशिश में आप दूसरे विषयों को समय नही दे पायेगे।

व्यवहार संबंधित दिशानिर्देश

  • परीक्षा के लिए तनाव महसूस न करे।
  • पर्याप्त नींद लें। पर्याप्त नींद लिए बिना आप कोई भी काम अच्छे से नहीं कर सकते हैं।
  • खास तौर पर पढ़ाई के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है।
  • परीक्षा से पहले ऐसी बात न करें, जिससे आपको अनावश्यक रूप से तनाव हो जाए।
  • सिर्फ सकारात्मक भावना ही रखे याद रखे नकारात्मक भावना आपको आपके लक्ष्य से दूर करती हैं।
  • परीक्षा हॉल में समय से पहुंचे।
  • परीक्षा से एक दिन पहले ही एडमिट कार्ड,पेन पेंसिल,रबड़ आदि सभी रख ले।

स्वास्थ्य संबंधित दिशानिर्देश

  • संतुलित भोजन करें व अच्छी नींद ले।
  • पर्याप्त मात्रा में जल लें।
  • परीक्षा शुरू होने से कुछ मिनट पहले न पढ़े।

आज हे लीजिए IBPS क्लर्क मैंस मॉक टेस्ट कोर्स हिन्दी में @Rs 149/- only

  • NITESH KUMAR

    Thanks

  • SHIVAM

    THANX A LOT. U gave me a useful information.