आईबीपीएस क्लर्क मेन परीक्षा के अंग्रेजी अभिक्षमता (English )खंड में अनुभागीय कट ऑफ कैसे अर्जित करे

0
419

आईबीपीएस क्लर्क मेन परीक्षा के अंग्रेजी अभिक्षमता (English )खंड में अनुभागीय कट ऑफ कैसे अर्जित करे

आधिकारिक सूचना के अनुसार, IBPS क्लर्क प्रतिभागी परीक्षा को बैंकों/वित्तीय संस्थानों में लिपिकीय संवर्ग पदों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए आयोजित किया जाता है । IBPS क्लर्क परीक्षा दो चरणों में होती है- प्रारंभिक और मुख्य,जो आवदेक प्रारंभिक परीक्षा को पास करते हैं। वे ही मुख्य परीक्षा देने के लिए अगले चरण में जाते हैं। यह लेख अंग्रेजी अभिक्षमता खंड विषय से संबधित है, जिसमे हम आपको अंग्रेजी अभिक्षमता खंड  में कटऑफ अर्जित करने के लिए टिप्स देगे जिससे आप परीक्षा में अच्छे अंक पा सकते हैं। अंग्रेजी अभिक्षमता के सभी उपविषय इस प्रकार है-

अंग्रेजी खंड – कुल प्रश्नों की संख्या – 40

विषय प्रश्नों की संख्या
गद्यांश (Reading Comprehension) 10
क्लोज़ टेस्ट(cloze test) 10
पेराजब्म्लेस (Rearrangement) 5
स्पॉट द एरर  ( Error Spotting) 5
कहावते व मुहावरे ( Phrases) 5
रिक्त स्थान पूर्ति(Fill in the blanks) 5

 

 

प्रत्येक विषय के अनुसार टिप्स

  1. गद्यांश (Reading Comprehension)इसमें आपको एक पेराग्राफ दिया जाता है जिसे आपको पढ़कर दिए गए सवालों के जवाब देने होते हैं। इस भाग में अधिकतर सवाल पेराग्राफ से संबंधित होते है। बाकी कुछ प्रश्न समानार्थी,पर्यायवाची,विलोम शब्द और अर्थ बताने वाले होते हैं। अगर आप इस भाग को पूरा सही कर लेते है तो आप कट ऑफ अंक आसानी से अर्जित कर सकते हैं।

परीक्षा में समय की कमी होते हुए आप इस भाग को निम्न प्राथमिकताओ के आधार पर करे

  • पढते समय ध्यान रखे कि कम समय में पैसेज को पढ़े।
  • विषय की धारणा को समझे।
  • लेखक की लय को पहचानें – लेखक किस विषय के बारे में बात कर रहा है जैसे-हास्य,गंभीर,कथा आदि।
  • लेखक के भाव को समझे । पेराग्राफ को पूरा न पढ़े पेराग्राफ का पहला और अंतिम भाग ही पढ़े। इससे आपको ज्ञात हो जाएगा कि लेखक किस बारे में बात कर रहा है।
  • दिए गए 10 सवालों में से 4-5 सवाल शब्दकोश (vocabulary) से संबधित होते है इसलिये शब्दकोश पर विशेष ध्यान दे।

क्लोज़ टेस्ट – क्लोज  पैसज को हल करने के लिए पहला चरण यह है कि आप उसे धीमी गति से बिना रिक्त स्थान को भरे पढ़ें । पैसज को दो या तीन बार पढ़ें, जिससे आपको ये ज्ञात हो जाए कि किस विषय में ये पैसज है ।

  • विषय जानने के बाद अगर आप 100% सही हैं तो ही रिक्त स्थानों को भरें ।
  • गद्यांश की भांति क्लोज टेस्ट भी तार्किक रूप से एक दूसरे से जुड़े होते हैं, इसलिये रिक्त स्थानों की पूर्ति तार्किकता से करें ।
  • जिन रिक्त स्थानों की पूर्ति नहीं हुई है उनके लिए शब्दों को ढूंढें जैसे आर्टिकल्स,  संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया विशेषण, पूर्वसर्ग, विशेषण, संयोजक या क्रियाएं।
  • कई रिक्तियां, जिनके एकाधिक विकल्प हैं उन पर पहले निशान लगा ले फिर सही शब्द को वाक्य के अनुसार रिक्त स्थान में भरें ।
  • कई बार ऐसा होता है कि आप दो शब्दों के बीच एक शब्द का चयन करने में असमर्थ होते हैं । ऐसे मामलों में विकल्पों में से उस शब्द का चयन करें जो अक्सर शब्दों के साथ इस्तेमाल होता है ।उदाहरण के लिए – Can we have a  ____ chat?
    • A. swift
    • B. quick
    • C. promp
  • इसमें सभी विकल्प एक दूसरे के पर्यायवाची शब्द हैं। जिसके कारण सही जवाब कौन सा है , यह तय करना मुश्किल हो सकता है । अंग्रेजी भाषा में  कुछ शब्द संयोजन के रूप में अधिक बार उपयोग किये जाते हैं । swift चैट जिसका अर्थ शीघ्र चैट हैं इससे ज्यादा QUICK चैट (जल्दी चैट) का प्रयोग किया जाता है इसलिए आपका सही जवाब QUICK(जल्दी) चैट होगा।
  • प्रत्येक पैसज एक निश्चित स्वर में लिखा जाता है, जैसे हास्य, गंभीर, कथा। पैसज के स्वर को पहचानें और उसी के अनुसार शब्द चुनें।

पेराजब्म्लेस (Rearrangement)इसमे आपको एक वाक्य 3-4 कथन के रूप में दिया जाता है जिसको आपको लिए सही क्रम में लिखना होता है। इसके लिए यही रणनीति है कि आप इसको ध्यान से पढ़े और फिर उसे तार्किकता से जोडे। इन सवालों को हल करने के लिए आपको 2-3 मिनट का ही समय देना चाहिए ।

स्पॉट द एरर  ( Error Spotting) – इसमें आपको जो वाक्य दिए जाते है उन वाक्यों में कुछ न कुछ गलतियाँ होती है। आपको वाक्यों में दी गई गलतियाँ ज्ञात करनी होती।

आप इस भाग को निन्म प्राथमिकताओ के आधार पर करे –

  • टेन्सेस
  • आर्टिकल ,संज्ञा और सर्वनाम
  • प्रपोज़िशन और कन्जेशन
  • एक्टिव और पेसिव वोइस
  • विषय और क्रिया संबंध

कहावते व मुहावरे ( Phrases) इसमे आपको कुछ कहावतों के आधार पर सवालों को हल करना होता हैं। इस भाग को हल करने की एक मात्र टिप्स यही है कि आप दी गई कहावतों के अर्थ को समझने का प्रयास करें और फिर दिए गए सवालों को हल करे।

अंग्रेजी अभिक्षमता खंड के लिए तैयारी टिप्स –

  • अंग्रेजी अखबार पढ़े -अगर आप अंग्रेजी अभिक्षमता खंड में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं , तो प्रतिदिन अंग्रेजी अखबार पढ़ने की आदत डालें। आप हर रोज़ अंग्रेजी अखबार पढ़े ।
  • प्रतिदिन अंग्रेजी न्यूज़ सुने -bbc या किसी भी अंग्रेजी न्यूज़ चेनल की न्यूज़ प्रतिदिन सुने।
  • अभ्यास करे – हमेशा अभ्यास और अभ्यास करते रहें।
  • किसी को अपना मेंटोर बनाए – जिसको इस विषय का ज्ञान हो उसे अपना मेंटोर बना ले ताकि वह आपकी गलतियों में सुधार कर सके।
  • इंग्लिश में बात करना प्रारम्भ करे आप सभी से इंग्लिश में बात करना प्रारम्भ करें।
  • सीखने की प्रक्रिया में रूचि ले आप जो भी कार्य करे उसमे रूचि ले क्योंकि अगर आप उसे एक बोझ के रूप में लेगे तो आपके लिए उसे करना कठिन होगा। इसलिये सीखने की इस प्रक्रिया में पूरी रूचि ले।
  • व्याकरण का ध्यान रखे वाक्यों को लिखते समय व्याकरण का ध्यान रखे।
  • विषय और क्रिया सम्बन्ध का ध्यान रखे इसमे आपको ये ध्यान रखना चाहिए कि आप जिस भी वाक्य का प्रयोग करे वह व्याकरण की दृष्टि से पूरी तरह सही हो जैसे अगर आप हिंदी में भाषा का प्रयोग करते समय मैंने खाना खाई नही बोल सकते, क्योंकि ये व्याकरण की दृष्टि से यह गलत है इसका सही रूप होगा – मैने खाना खाया।आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • ऑनलाइन किताब, नॉवेल, मेगज़ीन, अख़बार – एक ऐसी इंग्लिश की ऑनलाइन किताब, नॉवेल, मेगज़ीन, अख़बार लें जिसका स्तर आपकी मौजूदा इंग्लिश से थोड़ा उपर हो।
  • फ़्लैश कार्ड्स का प्रयोग करे आप शब्दकोश( वॉकेब्लरी) बढ़ाने के लिए फ़्लैश कार्ड्स का भी प्रयोग कर सकते है।
  • रोज़ का कार्य रोज़ करेआपको जो कार्य प्रतिदिन करना होते है उसे रोज़ के रोज़ करे।
  • अपने शब्द कोश ज्ञान में प्रतिदिन वृद्धि करेप्रतिदिन कम से कम 10 से 15 नए शब्द सीखे। अपना शब्दकोश बढ़ाने के लिए शब्दावली क्विज अवश्य ले।
  • प्रश्नपत्र को ध्यान पूर्वक पढ़ें -जब भी आप कोई परीक्षा देते हैं तो उत्तर लिखना शुरू करने से पहले, प्रश्नपत्र को कम से कम दो बार ध्यानपूर्वक पढ़ लें | यह सुनिश्चित कर लें कि प्रश्न क्या है और उसका सही उत्तर क्या होगा | कई बार घबराहट में हम प्रश्न समझ ही नहीं पाते और गलत उत्तर लिख देते हैं |
  • प्रतिदिन ऑनलाइन मोक टेस्ट ले – परीक्षा से पहले प्रतिदिन मोक टेस्ट ज़रुर ले। परीक्षा से पहले अगर आप प्रतिदिन मोक टेस्ट लेते है तो आपको परीक्षा देते समय आनी वाली परेशानियाँ पता चल जाएगी जिनमें आप अभ्यास करके सुधार कर सकते। मोक टेस्ट उसी प्रकार से तैयार किए जाते है जिस तरह से पेपर आता है। जब आप मोक टेस्ट के द्वारा परीक्षा की तैयारी करते है तो आपको ये ज्ञात हो जाता है कि आपको किस भाग में परेशानी आ रही है जिसे आपको दूर करना है।

अगर आप दी गई सभी टिप्स का पालन करे तो आप परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते। अभ्यर्थियों को बेहतर अंक लाने के लिए सिर्फ पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों और ऑनलाइन प्रश्नपत्रों का अधिकाधिक अभ्यास करने की आवश्यकता है।