नवीनतम करंट अफेयर्स 22 मार्च 2016-Daily Current Affairs 22 March in Hindi

0
187

1) सोने के आयात में कटौती करने के लिए भारत द्वारा संघर्ष के चलते मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर द्वारा सोने का संघटनीकरण

विवरण:

  • निजी स्वामित्व वाले देश के हजारों टन सोने के मुद्रीकरण एवं सोने के आयात में कटौती को लेकर शुरू किये गए एक सरकारी अभियान के जवाब के रूप में, मुंबई के 200 वर्ष पुराने सिद्धिविनायक मंदिर ने महीने के अंत तक पुनर्चक्रण हेतु, बैंक मैं अपने खजाने से सोने के एक बड़े हिस्से को जमा करने की बात कही।
  • वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारियों ने शुक्रवार को मुलाकात की एवं बहुप्रचारित योजना के संशोधन पर चर्चा की जिसके तहत पिछले चार महीनों में निजी लॉकरों एवं मंदिरों के कोषागृहों में पड़े हुए अनुमानित 20,000 टन में से केवल तीन टन सोने के जमा होने की बात कही गई है।
  • भारतीय, सोने को धन के रूप में जमा करने के साथ-साथ देवी देवताओं एवं सगे सम्बन्धियों को तोहफे के रूप में देना पसन्द करते हैं, सोने की खपत के मामले में भारत का चीन के बाद विश्व में दूसरा स्थान है। प्रत्येक वर्ष भारत में लगभग 1,000 टन सोना आयात होने के कारण वार्षिक व्यापार के कुल घाटे में एक चौथाई के रूप में लेखांकित है।

 

2) गुणवत्ता के भय से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा भारत के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता द्वारा बनाई गई तपेदिक (टीबी) की दवाइयों का निलंबन:

विवरण:

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने,  मानकों की एक जांच के बाद, विकासशील देशों के लिए भारत के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता स्विजेरा लैब्स (Svizera Labs) द्वारा बनाई गई तपेदिक (टीबी)  की दवाओं की मंजूरी निलंबित कर दी है।
  • संयुक्त राष्ट्र एजेंसी, जोकि मजबूत स्थानीय नियन्त्रण की कमी वाले बाजारों में एक दवा प्रहरी के रूप में कार्य करती है, ने शुक्रवार को बताया कि विनिर्माण मानकों और गुणवत्ता प्रबंधन अविश्वसनीय होने की वजह से स्विजेरा लैब्स (Svizera Labs) द्वारा मुंबई स्थल पर निर्मित तपेदिक (टीबी) की दवाओं के समस्त उत्पादों को निलंबित कर दिया गया है।
  • यह भी कहा कि स्वतंत्र विशेषज्ञों को पहले से बाजार में उपलब्ध दवाओं की जांच करनी चाहिए, तथा उन परीक्षणों के परिणाम के आधार पर बाजार से दवाओं को हटाना आवश्यक हो सकता है।

 

3) देश के शीर्ष चीनी उत्पादक महाराष्ट्र राज्य ने चीनी मिलों को गन्ना कर भुगतान से छूट दी:

विवरण:

  • राज्य के वित्त मंत्री ने बताया कि, शुक्रवार को देश के शीर्ष चीनी उत्पादक महाराष्ट्र राज्य ने, चीनी निर्यात करने वाली मिलों को 1 अक्टूबर से प्रारम्भित वर्ष 2015/16 के लिए क्रय-कर से मुक्त करने की घोषणा की है।
  • सुधीर मुनगंटीवार ने अपने बजट भाषण में कहा कि सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार चीनी निर्यात करने वाली मिलों को क्रय-कर से मुक्त रखा जाएगा।
  • महाराष्ट्र राज्य सहकारी चीनी कारखाना संघ के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य द्वारा गन्ने पर 3 प्रतिशत क्रय-कर लगाया जाता है, जोकि प्रति 100 किलो गन्ने पर लगभग 9 रुपए आता है।

 

4) चीन के उत्तर में अधिकांश क्षेत्रों को प्रदूषण ने अपनी चपेट में

विवरण:

  • चीन के उत्तर में अधिकांश क्षेत्रों को प्रदूषण ने अपनी चपेट में ले लिया है, जिसके कम होने की सम्भावना के अभाव में चीन ने आज धुंध के लिए पीली चेतावनी (yellow alert) जारी की।
  • राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र (एनएमसी) ने आज सुबह एक बयान में कहा है कि बीजिंग के अधिकांश भागों में, कणिका तत्व (PM) 2.5 घनत्व ( 2.5 माइक्रोन के बराबर या कम आकार के कणिका तत्व और हवा में प्रदूषक कणों की पहचान करने के लिए प्रमुख मानदंड) 260 और 400 माइक्रोग्राम के बीच प्रति घन मीटर का होना पाया गया, जोकि डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित सुरक्षा मानकों से कहीं ऊपर हैं।
  • राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र (एनएमसी) ने पूर्वानुमान में कहा है कि दक्षिण में भारी बारिश जारी रहेगी तथा ठंडी हवा के द्रव्यमान द्वारा धीरे-धीरे प्रदूषण छंटने तक बीजिंग, हेबेई, शेडोंग, हेनान और शांक्सी प्रांत जैसे अन्य क्षेत्र भी आज भारी धुंध में डूबे रहेंगे।

 

5) अनिर्बन, चिकारंगप्पा एवं अदिति भारत गोल्फ पुरस्कार 2016 में पुरुस्कृत किये गए:

विवरण:

  • अनिर्बान लाहिड़ी, एस चिकारंगप्पा, वानी कपूर एवं अदिति अशोक जैसे जाने माने गोल्फरों को यहाँ शुक्रवार को भारत गोल्फ पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया गया।
  • इस विशेष कार्यक्रम के तीसरे भाग के भव्य समायोजन में गोल्फ की प्रभुत्वकारी एवं जानी-मानी हस्तियां शामिल हुईं।
  • ‘मेक इन इंडिया’ अभियान केंद्र में पदासीन भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी अमिताभ कांत और नीति आयोग के मुख्य निष्पादन अधिकारी (CEO) ने शाम की अध्यक्षता की, वहीं प्रख्यात गोल्फर डेनियल चोपड़ा ने भारत में गोल्फ की स्थिति के बारे में एक भावनात्मक रूप से आवेशित व्याख्यान दिया।