नवीनतम करंट अफेयर्स 18 दिसम्बर 2015

0
47

13 फरवरी से मनाया जाएगा मेक इन इंडिया सप्ताह, एक हजार कंपनियां लेंगी हिस्सा

13 फरवरी से मनाया जाएगा मेक इन इंडिया सप्ताह, एक हजार कंपनियां लेंगी हिस्सा

  • सरकार अगले साल 13 से 18 फरवरी तक मेक इन इंडिया सप्ताह मनाने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुंबई में 13 फरवरी को इसका उद्घाटन करेंगे। इस आयोजन में सरकार को करीब साठ देशों से एक हजार कंपनियों और प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की उम्मीद है।
  • मेक इन इंडिया सप्ताह का थीम इनोवेशन, डिजाइन और सस्टेनेबिलिटी रखा गया है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआइपीपी) सचिव अमिताभ कांत ने बृहस्पतिवार को बताया कि इस आयोजन का मूल मकसद देश में अधिक से अधिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित करना है।
  • कांत ने कहा कि मेक इन इंडिया के ऐलान के बाद से अब तक देश में बड़ी मात्रा में एफडीआइ लाने में सफलता मिली है। बीते 17 महीने में जितना एफडीआइ देश में आया है वह इसके पहले के 17 महीनों के मुकाबले 35 फीसद अधिक है।
  • डीआइपीपी सचिव ने कहा कि सरकार के इन प्रयासों से वैश्विक निवेशक समुदाय का भारत में भरोसा बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि देश में इलेक्ट्रानिक्स, आटोमोटिव, खाद्य प्रसंस्करण, टेक्सटाइल व गारमेंट, रिन्यूएबल एनर्जी एंड कंस्ट्रक्शन में खासा निवेश आया है।
  • कई कंपनियों जिनमें फाक्सकान, जेनिथ, आइकिया और चीन का वांडा समूह भारत में निवेश कर रहा है। कुछ का निवेश आ चुका है और कुछ पाइपलाइन में है।
  • कांत ने कहा कि मेक इन इंडिया में सबसे बड़ी चुनौती है भारत में कारोबार करना आसान बनाने की। सरकार ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने की ठानी है और इसे पूरा किया जाएगा।

रूस से खरीदा जाएगा 40 हजार करोड़ का एयर डिफेंस सिस्टम

रूस से खरीदा जाएगा 40 हजार करोड़ का एयर डिफेंस सिस्टम

  • भारत अपनी हवाई सुरक्षा को और पक्का करने के लिए रूस से अति आधुनिक एयर डिफेंस सिस्टम की खरीद करेगा। एस 400 ट्रायंफ की इस खरीद पर भारत को लगभग 40 हजार करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। जल्दी ही होने वाले अपने रूस दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर अंतिम मुहर लगा सकते हैं। इसी तरह सेना की जरूरत को देखते हुए लगभग 15 हजार करोड़ रुपए के पिनाक राकेट सिस्टम के सौदे को भी मंजूरी दी गई है। सेना को अब सामान्य जीप की जगह 571 हल्के बुलेटप्रुफ वाहन भी उपयोग के लिए मिल सकेंगे।
  • रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई रक्षा खरीद समिति ने कई अहम खरीद के फैसले लिए हैं। इसमें सबसे अहम है हवाई सुरक्षा के लिए पांच ‘एस 400 ट्रायंफ’ की खरीद। इनके जरिए चार सौ किलोमीटर तक की दूरी में उड़ते हुए विमान, मिसाइल और ड्रोन तक किसी भी लक्ष्य को निशाना बनाया जा सकता है। यहां तक कि इसकी मदद से बैलिस्टिक मिसाइल और हाइपरसोनिक लक्ष्यों को भी भेदा जा सकता है। माना जा रहा है कि यह सौदा लगभग 40 हजार करोड़ का होगा। लेकिन इस सौदे की अंतिम रकम दोनों सरकारों के बीच समझौते के आधार पर होगी। जल्दी ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस की यात्रा पर जाने वाले हैं।
  • इसी तरह सेना के लिए पिनाक राकेट सिस्टम की खरीद को भी मंजूरी दे दी गई। इसके तहत मेक इन इंडिया में छह राकेट सिस्टम खरीदे जाएंगे। हरेक में 18 लांचर होंगे। इस लांचर में एक साथ 12 राकेट दागने की क्षमता है। इस पर 14,600 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। सेना को अब महिंद्रा जीप की जगह हल्के बुलेटप्रुफ वाहन भी उपयोग के लिए मिलेंगे। इनका उपयोग वे आतंकवाद और उग्रवाद विरोधी अभियानों में कर सकेंगे। इस पर लगभग 310 करोड़ रुपए की लागत आएगी। एयर डिफेंस सिस्टम के अलावा अन्य सौदों पर लगभग 25 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे।

साहित्य अकादमी ने की नए पुरस्कारों की घोषणा

साहित्य अकादमी ने की नए पुरस्कारों की घोषणा

 

  • देश में असहिष्णुता के नाम पर साहित्यकारों द्वारा अवॉर्ड लौटाए जाने के बाद साहित्य अकादमी ने नए पुरस्कारों की घोषणा कर दी है।
  • खबरों के अनुसार उदय भेंबरे को उनकी कोंकणी किताब कर्णपर्व के लिए इस साल का साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया है। वहीं अरुण खोपकर को उनकी किताब चलत चित्र व्युव के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। हिंदी में रामदरश मिश्र को उनके कविता संग्रह आग की हंसी के लिए सम्मान दिया जाएगा वहीं उर्दू में समालोचना तसव्वुफ और भक्ति के लिए शमीम तारिक को सम्मानित किया जाएगा।
  • अंग्रेजी में प्रसिद्ध लेखक साइरत मित्री के उपन्यास करानिल आफ ए कार्पस बीरर के लिए सम्मान दिया जाएगा ।
  • यह सम्मान 16 फरवरी को फिक्की सभागार में दिया जाएगा। साहित्य अकादमी भाषा सम्मान इस वर्ष संस्कृत भाषा के विद्वान प्रो. श्रीकांत बाहुलकर को दिया जाएगा।

अनिल अंबानी और स्पीलबर्ग ने मिलाया हाथ

अनिल अंबानी और स्पीलबर्ग ने मिलाया हाथ

NO COMMENTS