नवीनतम करंट अफेयर्स 16 दिसम्बर 2015

2
128

 
अब दो लाख रुपये से अधिक के लेनदेन पर जरूरी होगा पैन कार्ड

अब दो लाख रुपये से अधिक के लेनदेन पर जरूरी होगा पैन कार्ड

  • कालेधन पर शिकंजा कसते तथा आम लोगों को राहत देते हुए सरकार ने दो लाख रुपये से अधिक के भुगतान पर पैन नंबर अनिवार्य बनाने का फैसला किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। केंद्र के इस फैसले के बाद हालांकि उन लोगों को पैन नबंर देने की अनिवार्यता से राहत मिल जाएगी जो दो लाख रुपये से कम का लेन-देन करते हैं। सरकार ने दो लाख रुपये से अधिक की ज्वैलरी की खरीद पर भी पैन नंबर का उल्लेख करना अनिवार्य कर दिया है।
  • वित्त मंत्री ने अनुदान की पूरक मांगों पर चर्चा का जवाब देते हुए लोक सभा में इसकी घोषणा की। फिलहाल कोई वस्तु या सेवा की खरीदने पर भुगतान के लिए पैन नंबर का उल्लेख करना अनिवार्य नहीं था। वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2015-16 में एक लाख रुपये से अधिक के लिए लेन-देन पर पैन नंबर अनिवार्य बनाने की घोषणा की थी। हालांकि इसके बाद अलग-अलग वर्गो से वित्त मंत्रालय के पास प्रतिनिधित्व जाने के बाद मंत्रालय ने इसे एक लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये करने का फैसला किया है।
  • आयकर विभाग के नए नियमों के अनुसार होटल या रेस्टोरेंट में 50 हजार रुपये से अधिक का बिल आने पर पैन नंबर देना होगा। फिलहाल यह सीमा 25 हजार रुपये थी। हालांकि डाकघर बचत बैंक में 50 हजार रुपये से अधिक जमा करने के लिए जरूरी पैन नंबर की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है। इसी तरह टेलीफोन या सेलफोन का कनेक्शन लेने के लिए पैन नंबर नहीं देना होगा। इसी तरह विदेश यात्रा पर जाने वाले लोगों को राहत देते हुए 50 हजार रुपये तक की विदेशी मुद्रा और हवाई टिकिट खरीदने को पैन नंबर देने की अनिवार्यता से बाहर रखा गया है। हालांकि यह राशि 50 हजार से अधिक होने पर पैन नंबर का ब्यौरा देना होगा।
  • इन कामों के लिए जरूरी होगा पैन
  • 10 लाख रुपये से अधिक की अचल संपत्ति खरीदने के लिए
  • दुपहिया छोड़कर कोई भी अन्य वाहन खरीदने को
  • डाकघर, निधि या कॉपरेटिव बैंक में 50 हजार रुपये सावधि जमा करने के लिए
  • एक साल में पांच लाख रुपये जमा करने के लिए
  • एक लाख रुपये से अधिक की शेयर खरीदने या बेचने के लिए
  • जन धन को छोड़कर अन्य सभी तरह के बैंक खाते खोलने के लिए
  • होटल या रेस्टोरेंट में 50 हजार रुपये से अधिक का बिल आने पर
  • बैंक चैक या ड्राफ्ट 50,000 रुपये से अधिक होने पर
  • बैंकिंग कंपनी में दिन में 50 हजार रुपये से अधिक जमा करने पर
  • डीमैट खाता खोलने के लिए
  • किसी भी गैर-सूचीबद्ध कंपनी में एक लाख रुपये से अधिक के शेयर खरीदने के लिए
  • जीवन बीमा का भुगतान 50 हजार रुपये से अधिक होने पर
  • कैश कार्ड या प्रीपेड कार्ड से 50 हजार रुपये से अधिक के नकद भुगतान पर

पटेल के स्‍टेच्‍यू ऑफ यूनिटी के फाउण्‍डेशन के निर्माण का उद्धाटन

पटेल के स्टेदच्यून ऑफ यूनिटी के फाउण्डेरशन के निर्माण का उद्धाटन

  • गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की पुण्यतिथि पर नर्मदा बांध के पास बनने वाली उनकी विराट प्रतिमा के फाउण्डेशन के निर्माण का उद्घाटन ।
  • मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कहा कि सरदार पटेल ने देश के छह सौ रजवाड़ों को एक कर अखंड भारत का निर्माण किया। दुनिया में सबसे ऊंची उनकी प्रतिमा निर्माण करने का बीड़ा गुजरात सरकार ने उठाया है। उसकी शुरूआत आज उनकी पुण्यतिथि से कर रहे हैं।
  • मुख्यमंत्री ने सरदार सरोवर नर्मदा बांध का निर्माण कार्य देखा तथा दिसंबर 2016 तक बांध की पूर्ण ऊंचाई 138 मीटर पूरी कर लेने की बात दोहराई। बांध 122 मीटर तक बन चुका है तथा इस पर 16-16 मीटर के दरवाजे लगना बाकी है। उधर स्टेच्यू ऑफ युनिटी के निर्माण का लक्ष्य 4 साल रखा गया है। इसके लिए करीब ढाई हजार रूपयों के बजट का प्रावधान रखा गया है।

देश के इन 15 शहरों की हवा में घुला है जहर

देश के इन 15 शहरों की हवा में घुला है जहर

  • राजधानी दिल्ली ही नहीं देश के 15 प्रमुख शहरों की हवा में जहर घुल गया है। एनजीओ ग्रीनपीस इंडिया की एक हालिया रिपोर्ट से यह सनसनीखेज खुलासा हुआ है। एनजीओ का दावा है कि देश के जिन 17 शहरों में जहां राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता सूचकांक (एनएक्यूआइ) केंद्र स्थित हैं, उनमें से 15 में प्रदूषण का स्तर निर्धारित मानकों की सीमा लांघते हुए जानलेवा हो गया है। इन शहरों के लिए जारी रैंकिंग रिपोर्ट के अनुसार अप्रैल से नवंबर के बीच की अवधि में दिल्ली, अहमदाबाद, वाराणसी, पटना, आगरा और कानपुर में तो हालात बीजिंग से भी ज्यादा खराब दिखे।
  • एनएक्यूआइ के आंकड़ों में इन शहरों की हवा में जहरीले कणों की मात्रा चीन की राजधानी से ज्यादा दर्ज की गई है। इसी प्रकार वातावरण में खतरनाक पीएम 5 कणों की मौजूदगी के मामले में लखनऊ, अहमदाबाद, मुजफ्फरपुर और फरीदाबाद की स्थिति को वायु प्रदूषण के चलते रेड अलर्ट जारी करने लायक बताया गया है। इसी रिपोर्ट में यह भी दर्शाया गया है कि जुलाई से नवंबर के बीच दिल्ली की हवा में पीएम 2.5 कणों की मौजूदगी बीजिंग के मुकाबले दोगुनी रही। इसी प्रकार पीएम 10 का स्तर चीन की राजधानी के मुकाबले तीन गुना अधिक पाया गया।
  • दिल्ली में स्मॉग के कहर का जिक्र करते हुए ग्रीनपीस ने कहा है कि स्मॉग की चपेट में केवल दिल्ली के होने की बात भ्रामक है। उपग्रह से ली गई तस्वीरों में पंजाब से लेकर बिहार तक को स्मॉग की चपेट में पाया गया। यानी पूरा उत्तर भारत पर स्मॉग कहर जारी है। रिपोर्ट में दिल्ली के बाद कोलकाता, मुंबई और चंडीगढ़ जैसे शहरों में वायु प्रदूषण की स्थिति को भी खतरनाक बताया गया है। ग्रीनपीस इंडिया ने एनएक्यूआइ के आंकड़ों का इस्तेमाल करते हुए अपनी यह रिपोर्ट तैयार की है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के बड़े शहरों में हवा की गुणवत्ता मापने के लिए राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता सूचकांक केंद्रों की स्थापना कराई।

सीरिया पर सहमति बनाने के लिए पुतिन से मिले केरी

सीरिया पर सहमति बनाने के लिए पु

  • सीरिया पर रूस के साथ गतिरोध दूर करने के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी मंगलवार को मॉस्को पहुंचे। उन्होंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ मुलाकात कर इस संकट का ऐसा समाधान तलाशने पर चर्चा की जिस पर दोनों देशों को कोई आपत्ति नहीं हो। इससे पहले केरी ने अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव के साथ भी इस मुद्दे पर चर्चा की।
  • मुलाकात के बाद केरी ने बताया कि दोनों देशों के बीच कुछ मसलों पर मतभेद हैं जिन्हें दूर करने को लेकर प्रयास जारी हैं। उन्होंने सहमति बनने की उम्मीद जताई है। गौरतलब है कि अमेरिका सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद की सत्ता से विदाई चाहता है, वहीं रूस उन्हें समाधान प्रक्रिया का हिस्सा बनाने पर अड़ा है। इस मसले पर शुक्रवार से संयुक्त राष्ट्र में भी राजनयिकों के बीच चर्चा होनी है। लावरोव के साथ मुलाकात में केरी ने यू्रकेन के हालात पर भी चर्चा की।
  • केरी का यह दौरा ऐसे वक्त में हो रहा है जब रूस का अमेरिका के नाटो सहयोगी तुर्की के साथ संबंध शीत युद्ध के बाद सबसे खराब दौर में हैं। अमेरिका की कोशिश दोनों देशों के बीच मतभेद खत्म करने की भी है। इसी कड़ी में मंगलवार को अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर तुर्की पहुंचे। यहां उन्होंने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) के खिलाफ लड़ाई में तुर्की की ज्यादा भूमिका पर जोर दिया।

अमेरिका में ब्याज दर बढ़ने से कुछ उभरते बाजारों को जोखिमः मूडीज

अमेरिका में ब्याज दर बढ़ने से कुछ उभरते बाजारों को जोखिमः मूडीज

  • मूडीज इन्वेस्टर सर्विस ने कहा है कि मंगलवार से शुरू हो रही फेडरल रिजर्व की बैठक में यदि ब्याज दरें बढ़ाने का फैसला किया जाता है तो इस वजह से कुछ उभरते बाजारों के लिए जोखिम पैदा हो सकता है।
  • मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि जिन देशों के पास बाहरी झटकों से निपटने की क्षमता कम है, वे सबसे अधिक प्रभावित हो सकते हैं। रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि फेड ब्याज दर में 25 प्रतिशत बढ़ोतरी कर सकता है।
  • रिपोर्ट के मुताबिक,’फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी किए जाने की वजह से उभरते बाजारों के लिए अनिश्चितता की स्थिति खत्म होगी, लेकिन कुछ पूंजी प्रवाह और निवेशकों के रुझान के लिहाज से विपरीत स्थिति में रहेंगे।

मानव विकास सूचकांक में 5 रैंक उठने के बावजूद दुनिया में 140वें नंबर पर है भारत

मानव विकास सूचकांक में 5 रैंक उठने के बावजूद दुनिया में 140वें नंबर पर है भारत

  • भारत यूं तो मंगल ग्रह पर अंतरिक्ष यान भेज चुका है और कई क्षेत्रों में सफलता की नई बुलंदियों पर पहुंचा हो, लेकिन मानव विकास सूचकांक के मामले में अभी भी फिसड्डी है। भारत मानव विकास सूचकांक (एचडीआई) के मामले में अब भी निचले पायदान पर बना हुआ है। यूएनडीपी के ताजा रिपोर्ट में यह पिछली रिपोर्ट की तुलना में एक पायदान ऊपर चढ़कर 130वें स्थान पर आ गया है। जीवन प्रत्याशा में सुधार और प्रति व्यक्ति आय बढ़ने से एचडीआई में भारत की स्थिति सुधरी है।
  • संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) द्वारा सोमवार को जारी मानव विकास रिपोर्ट, 2015 में 188 देशों की सूची में भारत 130वें स्थान पर हैं। यह रैंकिंग 2014 के लिये है। ताजा रिपोर्ट के अनुसार भारत 131वें स्थान से 130वें सथान पर आया है। वर्ष 2009 से 2014 के बीच भारत का एचडीआई रैंक छह स्थान सुधरा है।
  • रिपोर्ट के साथ जारी एक नोट में कहा गया है, भारत का एचडीआई मूल्य 2014 में 609 रहा और 188 देशों एवं क्षेत्रों की सूची में 130वें स्थान रहा। इसके साथ देश मानव विकास पैमाने पर मध्यम श्रेणी के देशों में आ गया है। इसके अनुसार, 1980-2014 के बीच भारत का एचडीआई मूल्य 0.362 से बढ़कर 0.609 पर पहुंचा है। यह 68.1% वृद्धि को बताता है। औसतन सालाना वृद्धि 1.54% रही।
  • सूची में नार्वे पहले स्थान पर है जबकि ऑस्ट्रेलिया एवं न्यूजीलैंड क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश तथा पाकिस्तान सूची में 142वें और 147वें स्थान पर हैं। ब्रिक्स देशों में भारत सबसे नीचे है। ब्रिक्स के अन्य देश ब्राजील, रूस, चीन एवं दक्षिण अफ्रीका हैं।
  • एचडीआई देश में मूल मानव विकास उपलब्धियों का औसत मापक है। यह मानव विकास के तीन मूल आयामों लंबा और स्वस्थ्य जीवन, ज्ञान तक पहुंच और उपयुक्त जीवन स्तर में दीर्घकालीन प्रगति के आकलन को मापता है। जन्म के समय जीवन प्रत्याशा 2014 में 68 वर्ष रहा जो पिछले 6 तथा 1980 में 53.9 वर्ष था।
    प्रति व्यक्ति सकल राष्ट्रीय आय (जीएनआई) 2014 में 5,497 डॉलर रही जो 2014 में 5,180 डॉलर तथा 1980 में 1,255 डॉलर थी। 1980 से 2014 के बीच देश की प्रति व्यक्ति जीएनआई में 338% की वृद्धि हुई।
  • यूएनडीपी की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत में 2011 से स्कूली पढाई के प्रत्याशित वर्ष 7 वर्ष के स्तर पर बने हुए हैं। साथ ही स्कूली पढाई की का औसत वर्ष 2010 से 5.4 के स्तर पर कायम है। वर्ष 1980 से 2014 के बीच देश में लोगों का जन्म के समय जीवन प्रत्याशा 14.1 वर्ष बढ़ी है। वहीं इसी दौरान स्कूली शिक्षा का औसत वर्ष 3.5 साल तथा प्रत्याशित वर्ष 5.3 वर्ष बढ़ा।

आरजिओ मोबाइल ऑपरेटरों को पेश करेगी कड़ी चुनौती

आरजिओ मोबाइल ऑपरेटरों को पेश करेगी कड़ी चुनौती

  • जानी मानी अंतरराष्ट्रीय एजेंसी क्रेडिट सुइस ने रिलायंस जिओ की आने वाली 4जी सेवा को संतोषजनक मानते हुए उसे मौजूदा ऑपरेटरों के लिए संभावित चुनौती करार दिया है। आरजिओ की बीटा टेस्टिंग के दौरान उसके प्रदर्शन की समीक्षा के बाद क्रेडिट सुइस ने जिओ की नेटवर्क सेवाओं को मौजूदा ऑपरेटरों के समकक्ष और वायस क्वालिटी को बेहतर माना है। एजेंसी ने कंपनी की टेक्नोलाजी पर चलने वाले मोबाइल हैंडसेट के सीमित विकल्प पर चिंता जताई है।
  • क्रेडिट सुइस ने रिलायंस जिओ के ट्रायल नेटवर्क का मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में परीक्षण किया। सुइस का कहना है कि कंपनी की वोल्ट टेक्नोलाजी वायस सेवाओं में किसी मायने में परंपरागत 2जी, 3जी और फिक्स्ड लाइन नेटवर्क से कमतर नहीं कही जा सकती। क्रेडिट सुइस इस संबंध में आई ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि परीक्षण के दौरान कॉल ड्रॉप की समस्या भी देखने को नहीं मिली, जबकि वायस क्वालिटी काफी बेहतर रही। क्रेडिट सुइस का मानना है कि कुल मिलाकर आरजिओ का नेटवर्क आगे चलकर सभी के लिए चुनौती बन सकता है।
  • कंपनी का अगला फोकस प्राइसिंग और सेवा की मार्केटिंग पर होगा। अभी तक कंपनी की सेवाओं के लिहाज से इसकी वायस क्वालिटी को वोल्ट टेक्नोलाजी के चलते काफी कमजोर प्वाइंट माना जा रहा था। इसके पीछे तर्क यह था कि वोल्ट टेक्नोलाजी इस मामले में परिपक्व नहीं हुई है। लेकिन, क्रेडिट सुइस के परीक्षण के दौरान पाया गया कि अन्य मोबाइल नेटवर्क और फिक्स्ड लाइन पर की गई सभी कॉलें संतोषजनक रहीं। परीक्षण के दौरान जिओ के मोबाइल सिग्नल की क्वालिटी माल, आफिस बिल्डिंग, सार्वजनिक स्थानों राजमार्गो और मुंबई के बाहर के ग्रामीण इलाकों में काफी अच्छी रही। इसके लिए चलते वाहन में भी टेस्ट किए गए।
  • कंपनी के नेटवर्क पर डाटा डाउनलोड की रफ्तार भी परीक्षण के दौरान काफी तेज पाई गई है। ज्यादातर समय 15 से 30 एमबीपीएस की डाउनलोड स्पीड रही। लेकिन, यह स्पीड कभी कभी 70 एमबीपीएस तक भी पहुंची है। लेकिन, सेवाएं शुरू होने पर यह स्पीड कैसी रहती है यह इस बात पर निर्भर करेगा कि कंपनी के ग्राहकों की संख्या कितनी रहती है। हालांकि, जिओ के सिग्नल मुंबई के बाहर हाइवे से निकल कर पांच छह किलोमीटर अंदर ग्रामीण इलाकों में जाते ही कमजोर पड़ गए। इससे लगता है कि कंपनी जिओ की सेवाओं के लिए शुरुआत में केवल शहरी इलाकों में फोकस कर रही है। इन इलाकों में एयरटेल 2जी के साथ और वोडाफोन 3जी सेवा के साथ मौजूद है।

रिकवरी की कार्रवाई, सेबी ने जब्त कीं पर्ल्स की संपत्तियां

रिकवरी की कार्रवाई, सेबी ने जब्त कीं पर्ल्स की संपत्तियां

  • पूंजी बाजार नियामक सेबी ने पीएसीएल लिमिटेड के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए कंपनी और उसके नौ प्रमोटरों व डायरेक्टरों की संपत्तियां जब्त कर ली हैं। पांच करोड़ निवेशकों की करीब 60,000 करोड़ रुपये की बकाया राशि लौटाने में नाकाम रहने के बाद कंपनी के यह कदम उठाया गया है। निवेशकों से पोंजी स्कीमों के जरिये अवैध फंड जुटाने का देश में यह सबसे बड़ा मामला है। पीएसीएल को निवेशकों के बीच पर्ल के नाम से जाना जाता है।
  • रिकवरी की यह कार्रवाई पीएसीएल और उसके प्रमोटर व डायरेक्टर तरलोचन सिंह, निर्मल सिंह भंगू, सुखदेव सिंह, गुरमीत सिंह, सुब्रत भट्टाचार्य, टाइगर जोगिंदर, गुरनाम सिंह, आनंद गुरवंत सिंह तथा उप्पल देविंदर कुमार के खिलाफ की गई है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने इन सभी डिफॉल्टरों के बैंक और डीमैट खाते व म्यूचुअल फंड फोलियो को तत्काल प्रभाव से जब्त कर लिया है।
  • इस बारे में सभी बैंकों, डिपॉजिटरीज तथा म्यूचुअल फंड कंपनियों को जानकारी दे दी गई है। इसके अलावा सभी डिफॉल्टरों को रिकवरी का नोटिस भेजा गया है। सेबी ने 22 अगस्त, 2014 को आदेश तीन महीने के भीतर कंपनी से निवेशकों का धन लौटाने और योजनाओं को बंद करने का आदेश दिया था। पीएसीएल ने पांच करोड़ निवेशकों से 49,100 करोड़ रुपये जुटाए थे। कंपनी को यह राशि वादे के मुताबिक रिटर्न, ब्याज व अन्य शुल्कों के साथ लौटानी थी।
  • इस तरह कुल रकम 55,000 करोड़ रुपये से अधिक बैठती है। वसूली प्रक्रिया शुरू करते हुए नियामक ने कहा कि पीएसीएल समूह की एक अन्य कंपनी पीजीएफएल ने भी अवैध तरीके से 5,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए थे। सेबी और प्रतिभूति अपीलीय ट्रिब्यूनल (सैट) के आदेशों के बावजूद यह कंपनी भी निवेशकों को उनकी रकम रिफंड करने में विफल रही। कंपनी के निवेशकों का पैसा सूद समेत लौटाने में नाकाम रहने पर कार्रवाई शुरू की गई है।
  • पीएसीएल ने साल 1990 से तरह-तरह की स्कीमों के जरिये निवेशकों से फंड जुटाना शुरू किया था। शिकायत मिलने पर सेबी ने इस कंपनी को 1999 में पहला नोटिस जारी कर सामूहिक निवेश स्कीमों (सीआईएस) से जुड़े नियमों का पालन करने की हिदायत दी थी। कंपनी ने इस नोटिस व सीआईएस नियमों की वैधता को राजस्थान हाई कोर्ट में चुनौती दी।
  • हाई कोर्ट ने 2003 में अपने आदेश में कहा कि पीएसीएल की योजनाएं सीआइएस नहीं हैं। इसके खिलाफ सेबी सुप्रीम कोर्ट में गया, जहां से 2013 में यह फैसला आया कि सीआईएस नियम वैध हैं। साथ ही शीर्ष अदालत ने आदेश दिया कि सेबी इस मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करे। इसके बाद नियामक ने अपनी जांच आगे बढ़ाई। कार्रवाई के लिए पर्याप्त सुबूत मिलने पर सेबी ने 22 अगस्त, 2014 को पीएसीएल को अपनी सभी स्कीमें बंद कर निवेशकों से जुटाई रकम लौटाने का आदेश दिया।

नासा के अंतरिक्ष अभियानों के लिए आवेदन प्रकिया शुरू

नासा के अंतरिक्ष अभियानों के लिए आवेदन प्रकिया शुरू

  • अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने मंगल यात्रा समेत विभिन्न अंतरिक्ष अभियानों के लिए आवेदन लेने की प्रकिया शुरू कर दी है। ये आवेदन अगले साल 18 फरवरी तक दिए जा सकते हैं है। सफल अभ्यर्थियों की घोषणा वर्ष 2017 के मध्य तक की जाएगी। अपने तरह के पहले अभियान में सिर्फ अमेरिकी नागरिक ही शामिल हो सकते हैं।
  • नासा के प्रशासक और पूर्व अंतरिक्ष यात्री चार्ल्स बोल्डेन ने इस योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि चुने गए अंतरिक्ष यात्रियों को अमेरिका निर्मित चार अंतरिक्ष यानों से स्पेस में भेजा जाएगा। इन यात्रियों को फ्लोरिडा स्थित केंद्र से बोइंग के सीएसटी-100 स्टारलाइनर और स्पेस एक्स क्रू ड्रैगन के जरिये अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) भी भेजा जाएगा।
  • इसके अलावा कैनेडी स्पेस सेंटर से अंतरिक्ष यान ओरियोन से उन्हें चंद्रमा के कक्ष में भी ले जाया जाएगा। चार्ल्स बोल्डेन के अनुसार इसके बाद उन्हें मंगल ग्रह पर लाया जाएगा।
  • उन्होंने बताया कि अंतरिक्ष यात्रा के इच्छुक व्यक्ति के पास इंजीनियरिंग, बायोलॉजिकल साइंस, फिजिकल साइंस, कंप्यूटर साइंस या गणित में स्नातक की डिग्री होना अनिवार्य है। इसके अलावा संबंधित क्षेत्रों में तीन साल का अनुभव भी होना चाहिए।

नैटको, हेटेरो को हेपेटाइटिस सी की जेनेरिक दवा बाजार में लाने की मंजूरी दी

नैटको, हेटेरो को हेपेटाइटिस सी की जेनेरिक दवा बाजार में लाने की मंजूरी दी

  • ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने 14 दिसम्बर 2015 को दवा कंपनियों नैटको फार्मा और हेटेरो को क्रॉनिक हेपेटाइटिस सी की दवा डैक्लाट्सविर का जेनेरिक वर्जन भारत में बेचने की इजाजत दे दी है. सितंबर 2014 में हेटेरो ड्रग्स लि ने क्रोनिक हेपेटाइटिस सी दवाओं के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका आधारित गिलाद विज्ञान के साथ एक गैर अनन्य लाइसेंस समझौते पर हस्ताक्षर किए. यह निश्चित दवा संयोजन गिलाद के ब्रांड हार्वोनी का के जेनेरिक संस्करण है।
  • नैटको के अनुसार वह भारत की पहली कंपनी है और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में भी दर्ज है, जिसे डीसीजीआई से यह दवा बनाने की इजाजत मिली है।
  • कंपनी को 30 और 60 एमजी की डोज के लिए यह मंजूरी दी गयी है।
  • हेटेरो दवा कंपनी को हेपेटाइटिस की दवा का जेनेरिक वर्जन बेचने के लिए डीसीजीआई से अनुमति मिली है।
  • हेटेरो भी 30 और 60 एमजी की डोज की दवा की बिक्री कर सकती है।
  • डैक्लाट्सविर को सोफोसबुविर के साथ यूज करके क्रॉनिक हेपेटाइटिस सी का इलाज किया जाता है।
  • नैटको दवा का जेनेरिक वर्जन एनएटीडीएसी (‘NATDAC’) नाम से बाजार में उतारेगी।
  • नैटको दवा को खुद और अपने पार्टनर्स के जरिये बिक्री करेगी।
  • नैटको 60 एमजी की 18 टैबलेट को 6,000 रुपये और 30 एमजी की 28 टैबलेट को 4,000 रुपये में लॉन्च करेगी।
  • हेटेरो की दवा ब्रिस्टल मायर्स स्किवब के डाकलिंजा टैबलेट्स का जेनेरिक वर्जन होगी।

खेल पत्रिका स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड ने सेरेना विलियम्स को स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ द ईयर चुना

खेल पत्रिका स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड ने सेरेना विलियम्स को स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ द ईयर चुना

  • अमेरिका की प्रतिष्ठित खेल पत्रिका स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड (एसआइ) ने दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स को दिसंबर 2015 में ‘स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर’ चुना. इसके साथ ही सेरेना, स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड पत्रिका द्वारा इस पुरस्कार से नवाजे जा चुके मुक्केबाज मुहम्मद अली, ऑर्थर एश, लेब्रॉन जेम्स, माइकल जॉर्डन, बिली जीन किंग और जैक निकलस जैसे दिग्गजों के समूह में शामिल हो गई।
  • अमेरिका महिला टेनिस खिलाड़ी सेरेना वर्ष 1983 के बाद पहली ऐसी महिला खिलाड़ी हैं जिन्हें इस प्रतिष्ठित पत्रिका ने यह सम्मान दिया है. इससे पहले एसआइ ने मेरी डेकर को इस पुरस्कार से सम्मानित किया था. अमेरिका की इस शीर्ष टेनिस खिलाड़ी ने वर्ष 2015 में लगातार तीन ग्रैंडस्लैम जीते. इसके साथ ही हर सप्ताह जारी होने वाली विश्व रैंकिंग में लगातार दो साल तक शीर्ष पर रहना उनकी श्रेष्ठता को साबित करता है।

ऑलराउंडर्स की आइसीसी रैंकिंग में इन दो भारतीय दिग्गजों का धमाल

ऑलराउंडर्स की आइसीसी रैंकिंग में इन दो भारतीय दिग्गजों का धमाल

  • आइसीसी टेस्ट रैंकिंग की शीर्ष-10 ऑलराउंडरों की फेहरिस्त में भारतीय खिलाड़ियों का जलवा देखने को मिला है। शीर्ष-5 टेस्ट ऑलराउंडरों में दो खिलाड़ी भारत के हैं। ये दोनों हैं भारतीय स्पिनर ऑलराउंडर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा। यही नहीं गेंदबाजों की टेस्ट रैंकिंग में भी टॉप-10 में यही दो भारतीय गेंदबाज चमक बिखेरते नजर आए हैं।
  • ऑलराउंडरों की ताजा रैंकिंग में जहां अश्विन अब भी शीर्ष स्थान पर कायम हैं वहीं जडेजा एक स्थान के फायदे के साथ अब पांचवें स्थान पर पहुंच गए हैं। दोनों ही गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अपने लाजवाब प्रदर्शन से भारत को जीत दिलाई थी। उधर, गेंदबाजों की टेस्ट रैंकिंग में अश्विन जहां दूसरे स्थान पर हैं वहीं जडेजा 8वें स्थान पर मौजूद हैं। गेंदबाजों की इस सूची में ऑस्ट्रेलिया के जोश हेजलवुड शीर्ष-10 में जगह बनाने में सफल हो गए हैं जबकि ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथन ल्योन दो स्थान की छलांग लगाकर 18वें पायदान पर पहुंच गए हैं।
  • बल्लेबाजों की रैंकिंग की बात करें तो यहां टॉप-10 में कोई भी भारतीय खिलाड़ी मौजूद नहीं है। इस सूची में अब भी दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज एबी डीविलियर्स शीर्ष पर हैं जबकि न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन दूसरे नंबर पर हैं और वो एबी से बस दो अंक ही पीछे हैं। न्यूजीलैंड के ओपनर मार्टिन गुप्टिल ने 18 पायदानों की लंबी छलांग लगाई है जबकि कीवी कप्तान ब्रैंडन मैकुलम दो स्थान की छलांग लगाकर 17वें पायदान पर पहुंच गए हैं
  • priyanka pandey

    Plz update previous yrs pprs of ibps and rrbs

    • Vaibhav

      Okay priyanka.